Tuesday, December 20, 2016

true media|| dr pushpa joshi ||Samman Samaroh || yuva utkrashth sahityik...

2 comments:

Ahmad Ali said...

''युवा उत्कर्ष साहत्यिक मंच'' के तत्वावधान में तृतीय अखिल भारतीय वार्षिक महोत्सव एवं साहित्यकार सम्मान समारोह, 11 दिसम्बर 2016 को पी.के.रोड रेलवे अधिकारी क्लब, नई दिल्ली में आयोजित हुआ...
युवा उत्कर्ष साहित्यिक मंच नई दिल्ली
डॉ. अहमद अली बर्क़ी आज़मी
करता है साहित्य की सेवा युवा उत्कर्ष मंच
इसका यह साहित्य में है लाभदायक योगदान
करते हैं हर माह इसमें लोग आ कर काव्य पाठ
सुनने को मिलती हैं इसमें सब की रचनाएँ महान
गंगा जमुनी सभ्यता का हिन्द की संगम है यह
जिसकी है सारे जगत में एक अनोखी आन बान
प्रेरणा देता है यह साहित्य सिर्जन की हमें
कम किसी से भी नहीं इस मंच का यह योगदान
अपनी रचनाओं से बर्क़ी हैं अमर साहित्यकार
रहता है साहित्य जीवित भूत हो या वर्तमान
युवा उत्कर्ष साहित्यिक मंच का वार्षिक समारोह
डॉ. अहमद अली बर्क़ी आज़मी
हो मुबारक वार्षिक उत्सव युवा उत्सर्ग का
आज का दिन है सभी कवियों के अवसर हर्ष का
जिस तरह साहित्य सेवा में है इस का कीर्तिमान
क्यों न हम भी अनुसरण इस के करें आदर्श का
संस्थापक का है इसके सार्थक एक योगदान
फर्श से उठ कर सफर यह कर रहा है अर्श का
आपसी सदभाव का यह मंच हो हर दिलअज़ीज़
नाम ऊंचा हो जगत में इस युवा उत्कर्ष का
दे रहा है इसको बर्क़ी आज़मी आशीर्वाद
लेख जोखा है यह इसके कार्य के निष्कर्ष का

Ahmad Ali said...

''युवा उत्कर्ष साहत्यिक मंच'' के तत्वावधान में तृतीय अखिल भारतीय वार्षिक महोत्सव एवं साहित्यकार सम्मान समारोह, 11 दिसम्बर 2016 को पी.के.रोड रेलवे अधिकारी क्लब, नई दिल्ली में आयोजित हुआ...
युवा उत्कर्ष साहित्यिक मंच नई दिल्ली
डॉ. अहमद अली बर्क़ी आज़मी
करता है साहित्य की सेवा युवा उत्कर्ष मंच
इसका यह साहित्य में है लाभदायक योगदान
करते हैं हर माह इसमें लोग आ कर काव्य पाठ
सुनने को मिलती हैं इसमें सब की रचनाएँ महान
गंगा जमुनी सभ्यता का हिन्द की संगम है यह
जिसकी है सारे जगत में एक अनोखी आन बान
प्रेरणा देता है यह साहित्य सिर्जन की हमें
कम किसी से भी नहीं इस मंच का यह योगदान
अपनी रचनाओं से बर्क़ी हैं अमर साहित्यकार
रहता है साहित्य जीवित भूत हो या वर्तमान
युवा उत्कर्ष साहित्यिक मंच का वार्षिक समारोह
डॉ. अहमद अली बर्क़ी आज़मी
हो मुबारक वार्षिक उत्सव युवा उत्सर्ग का
आज का दिन है सभी कवियों के अवसर हर्ष का
जिस तरह साहित्य सेवा में है इस का कीर्तिमान
क्यों न हम भी अनुसरण इस के करें आदर्श का
संस्थापक का है इसके सार्थक एक योगदान
फर्श से उठ कर सफर यह कर रहा है अर्श का
आपसी सदभाव का यह मंच हो हर दिलअज़ीज़
नाम ऊंचा हो जगत में इस युवा उत्कर्ष का
दे रहा है इसको बर्क़ी आज़मी आशीर्वाद
लेख जोखा है यह इसके कार्य के निष्कर्ष का